0

अगर आप घर में रखते हैं इन बातों का ध्यान तो धन की देवी माँ लक्ष्मी स्वयं पधारती हैं आपके घर

आज के समय में हर व्यक्ति की कुछ आवश्यकताएं हैं। आर्थिक युग होने की वजह से व्यक्ति की ज्यादातर आवश्यकताएं बिना धन के पूरी नहीं हो पाती हैं। यही वजह है कि आज के समय में हर व्यक्ति धनवान बनने का सपना देखता है। कुछ लोग इसके लिए खूब मेहनत भी करते हैं, इसके साथ ही कई और उपाय भी करते हैं। वहीँ कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिनके कम मेहनत के बाद भी महालक्ष्मी उनके ऊपर मेहरबान रहती हैं। यह देखकर ज्यादातर लोगों को हैरानी होती है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें व्यक्ति धनवान या गरीब अपने प्रोफेशन की वजह से कम बल्कि अपने कर्मों से बनता है। इसके साथ ही कुछ लोग घर में वास्तुदोष होने की वजह से भी गरीब बने रहते हैं। घर में पैसा आता तो खूब है लेकिन वह टिक नहीं पाता है। वास्तुशास्त्र और ज्योतिषशास्त्र के अनुसार किसी भी घर के लिए उसका मुख्य द्वार सबसे महत्वपूर्ण होता है। इसके बारे में कहा जाता है कि घर का मुख्य द्वार परिस्थितियों का भव्य आईना होता है। सभी लोग अपना घर बनवाते समय मुख्य दरवाजे पर विशेष रूप से ध्यान देते हैं।

कुछ लोग घर का मुख्य द्वार भव्य बनवाते हैं वहीँ कुछ लोग बहुत साधारण में इसे बनवा देते हैं। हालाँकि कैसे भी घर का मुख्य द्वार बनवाया जाए, कोई फर्क नहीं पड़ता है। फर्क तब पड़ता है, जब मुख्य द्वार में वास्तुदोष होता है। मुख्य द्वार में जरा सा भी वास्तुदोष होने से आपके जीवन का सुख-सौभाग्य समाप्त हो जाता है। यही वजह है कि शास्त्रों में पूजा घर के साथ ही घर के मुख्य द्वार को भी वास्तु के अनुसार बनाने की सलाह दी गयी है। आज हम आपको कुछ ऐसे वास्तु टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका इस्तेमाल करके आप घर की दरिद्रता और दुःख दोनों ही दूर कर सकते हैं।

रखें इन वास्तु नियमों का ख़याल:

*- अगर किसी घर का मुख्य द्वार कोने, कुएं, कचरे, पेड़, देव स्थान से अवरुद्ध हो जाता है तो यह वास्तु के हिसाब से शुभ नहीं माना जाता है। इसलिए घर के मुख्य द्वार को बनवाते समय इन बातों का ध्यान रखें।

*- जिस घर का मुख्य दरवाजा मिट्टी के टीले, सूखी लकड़ी, खिड़की तथा द्वार भित्ति शैया आदि से अवरुद्ध नहीं होता है तो यह शुभ होता है। वास्तु के अनुसार दक्षिण द्वार हमारी रक्षा करता है और सामने की दृष्टि का वेध पुरे कुल का नाश करता है।

*- अगर आपके घर की छाया पास के कुएं के ऊपर पड़ती है तो ऐसे घर में रहना शुभ नहीं माना जाता है। अगर ऐसा होता है तो वास्तुपुरुष की पूजा करके इसका निदान करना चाहिए। इस बात का भी ध्यान रखें की दूसरे या तीसरे प्रहर के समय किसी वृक्ष या भवन की छाया आपके घर पर तो नहीं पड़ रही है।

*- इस बात का ध्यान रखें कि घर के मुख्य दरवाजे के सामने चौराहा, तिराहा या कोई मुख्य सड़क नहीं होनी चाहिए। इससे घर में हमेशा अशांति बनी रहती है। उस घर में जो भी लोग रहते हैं, उनके लिए हर दिन नयी-नयी मुसीबतें खड़ी होती रहती हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें उपर्युक्त सभी बातें एक जानकार वास्तुशास्त्री की सलाह पर लिखी गयी है। अगर आपके मन में इन बातों को लेकर कोई शंका हो तो आप किसी अन्य वास्तुशास्त्री से सलाह ले सकते हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *