0

इस लड़के ने रेप के आरोपी के लिए बताई ऐसी सजा कि सीधे बन गया IAS ऑफिसर, आप भी हैरान रह जाएंगे

यूपीएससी की सिविल सर्विस सर्विसेज परीक्षा में प्री और मेंस परीक्षा पास करने के बाद इंटरव्यू होता है. जिन्होंने इंटरव्यू दिया होगा उन्हें पता होगा कि रिटेन एग्जाम से ज्यादा मुश्किल होता है इंटरव्यू क्लियर करना. इंटरव्यू में ऐसे-ऐसे ट्रिकी सवाल किये जाते हैं जिसे सुनकर इंटरव्यू देने वालों का सिर चकरा  जाता है. इंटरव्यूअर आपसे ऐसे-ऐसे टेढ़े सवाल पूछते हैं जिसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते.

क्राइम के मामले में हमारा देश धीरे-धीरे नंबर 1 बनते जा रहा है. इसे कम करने के लिए रोज़ नए-नए कानून बनते हैं लेकिन यह जैसे कम होने का नाम ही नहीं ले रहा. अब तक हम सबने न जाने किस-किस तरह की अप्रिय घटनाएं सुनी होंगी. कभी मर्डर का मामला सामने आता है तो कभी महिलाओं के साथ रेप और छेड़छाड़ का. अगर गिनने बैठ जाएं तो गिनती खत्म हो जायेगी लेकिन अपराध नहीं. बात करें महिलाओं के साथ होने वाले अपराध की, तो इतने सख्त कानून होने के बावजूद आये दिन हम उन पर हुए अत्याचारों की खबरें सुनते ही रहते हैं. मासूम छोटी बच्चियों के साथ स्कूल में दुष्कर्म की खबरें तो आती ही रहती हैं. आज के इस बदलते दौर में महिलाओं की सुरक्षा कुछ हद तक उनके हाथों में भी होती है. अगर वह हिम्मत दिखाकर हो रहे जुर्म के खिलाफ आवाज़ उठायें तो पुरुष उन पर हिंसा करने या उन्हें परेशान करने के बारे में सोचेंगे भी नहीं.

आपको बता दें कि इंटरव्यू में अधिकतर ऐसे सवाल पूछे जाते हैं जो महिलाओं से जुड़े होते हैं. महिलाओं से जुड़े सवाल पूछकर इंटरव्यूअर महिलाओं के प्रति पुरुष के मानसिक सोच के बारे में जानने की कोशिश करते हैं. हाल ही में झांसी के रहने वाले आरिफ खान ने यूपीएससी की परीक्षा में 850वीं रैंक हासिल की है. आजकल वह एक सवाल के दिए गए जवाब को लेकर काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं. बता दें कि फिलहाल आरिफ नागपुर में एक जीएसटी ऑफिसर के रूप में तैनात हैं. इससे पहले वह तीन बार यूपीएससी की परीक्षा दे चुके हैं लेकिन सफलता उन्हें चौथी बार मिली. उन्होंने बताया कि इंटरव्यू के दौरान उनसे कई सवाल पूछे गए, जिसमें से एक सवाल उनसे रेप पर पूछा गया.

उनसे पूछा गया कि रेप की घटनाओं को रोकने के लिए आरोपी को फांसी की सजा देना सही है? इस पर आरिफ ने जो जवाब दिया वह वाकई काबिल-ए-तारीफ़ है. आरिफ ने कहा कि, “मात्र फांसी देने से रेप जैसी समस्या का समाधान नहीं होगा. क्योंकि यदि फांसी देने से रेप का समाधान हो जाता तो सबूत मिटाने के लिए ऐसे केस में आरोपी विक्टिम की हत्या कर सकता है”. उन्होंने आगे कहा कि, “हमारी कोशिश समाज को सुधारने की होनी चाहिए. क्योंकि रेप करने वाले भी इसी समाज से आते हैं”.

यह जवाब सुनते ही इंटरव्यू लेने वाले खुश हो गए और उन्होंने आरिफ की तारीफ़ की. वैसे अगर देखा जाए तो आरिफ न बिलकुल सही कहा है. यदि हम चाहते हैं कि रेप जैसी घटना न हो तो उसके लिए समाज में सुधार लाना होगा. लोगों की मानसिकता बदलनी होगी. आरोपी को फांसी देने से रेप जैसी गंभीर समस्या खत्म नहीं होने वाली. दोस्तों इस विषय में आपकी क्या राय है कृपया हमारे साथ जरूर शेयर करें.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *