कठुआ गैंगरेप: ये हैं मासूम बच्ची के साथ हैवानियत, रेप और हत्या करने वाले 8 आरोपियों के नाम

जम्मु – कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची का गैंगरेप और हत्या पर पूरे देश में राजनीति की जा रही है। इस गैंगरेप केस को लेकर पूरे देश में जहां लोगों में दहशत और गुस्से का माहौल है तो वहीं कुछ लोग इसे धर्म विशेष के फायदे के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। आपको बता दें कि इस मामले में पुलिस ने जो चार्जशीट दाखिल की है उसमें 8 लोगों को आरोपी बनाया गया है। चार्जशीट के मुताबिक इस दिल दहला देने वाली घटना का मास्टरमाइंड मंदिर का पुजारी संजी राम है। संजी राम के अलावा, इस मामले में 7 और लोग शामिल हैं। तो आइये आपको बता दें कि कठुआ गैंगरेप के आरोपियों के नाम क्या हैं और वो क्या करते हैं।

दरअसल, कठुआ गैंगरेप एक अलग तरह का केस है। क्योंकि, इस केस में रेप करने वाली की नियत दहशत पैदा करना था। चार्जशीट के मुताबिक, यह एक सोची समझी साजिश है जिसका उद्देश्य कठुआ से बकरवाल समुदाय को भगाना है। गौरतलब है कि कठुआ में 10 जनवरी को 8 साल की बच्ची आसिफा लापता हो गई थी। इसके बाद 17 जनवरी को मासूम की लाश क्षत-विक्षत हालत में जंगल में मिली। जम्मू कश्मीर क्राइम ब्रांच की चार्जशीट के मुताबिक इस केस में 8 आरोपी हैं।

कठुआ गैंगरेप के आरोपियों के नाम क्या हैं?

नाबालिग डीएनए टेस्ट में बालिग निकला

इस केस में अभी तक कहा जा रहा था की एक शख्स नाबालिग है। लेकिन, डीएनए टेस्ट में उसकी सच्चाई भी सामने आ चुकी है। दरअसल, ये कहा जा रहा था कि बच्ची को बहला फुसलाकर लाने वाला लड़का नाबालिग है। कहा जा रहा था कि बच्ची को जंगल के रास्ते मंदिर तक लाने वाला लड़का 15 साल का है। लेकिन डीएनए टेस्ट से पता चला है कि वो 19 साल का है। इस लड़के का नाम अभी सामने नहीं आ सका है।

सांजी राम

नाबालिग लड़के के बाद सांझी राम इस पूरे मामले का मास्टरमाइंड है। इस घटना का पूरा प्लान सांजी का ही था। सांजी राम इतना शातिर है कि इसने खुद को बचाने के लिए घटना से पहले ही काफी पैसों का बंदोबस्त किया था ताकि पुलिस को घूस देकर बच सके।

दीपक खजुरिया

दीपक खजुरिया वो शख्स से जिसने बच्ची को मारने से पहले एक बार और रेप करने की बात कही थी। हैरानी की बात तो ये है कि दीपक स्पेशल पुलिस ऑफिसर के पद पर था। दीपक के नाम का खुलासा 19 साल के लड़के के बयान से हुआ है।

सुरिंदर कुमार

दीपक की तरह ही सुरिंदर कुमार भी एक पुलिस ऑफिसर है। हैरानी की बात ये है कि यह भी एक पुलिस वाला है। इस शख्स के रेप में शामिल होने का खुलासा उसके कॉल डेटा रिकॉर्ड्स से हुआ है।

परवेश कुमार

19 साल के पहले आरोपी के गवाही के आधार पर परवेश कुमार का नाम सामने आया है। लड़के के मुताबिक, परवेश ने बच्ची के साथ कई बार रेप किया।

विशाल

क्या आप सोच सकते हैं कि कोई बाप अपने बेटे को रेप करने के लिए कहे? लेकिन, इस मामले में सांजी राम ने अपने बेटे विशाल को रेप करने के लिए कहा। बाप के इस अपराध में साथ देने के लिए विशाल मेरठ से अपनी पढ़ाई छोड़कर कठुआ पहुंचा था।

आनंद दत्ता और तिलक राज

ये दोनों भी पुलिस वाले हैं। आनंद दत्ता सब इंस्पेक्टर और तिलक राज हेड कॉन्स्टेबल है। दोनों ने सबूत मिटाने का काम किया। इसके लिए इन्होंने काफी पैसे घुस लिये। चार्जशीट के मुताबिक, इन्होंने बच्ची की ड्रेस को धुला भी था। ये कठुआ गैंगरेप के आरोपियों के नाम हैं। शायद अभी जांच आगे बढ़े तो कुछ नामों का पर्दाफाश और हो सकता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *