गैंगरेप कांड पर हार्दिक का वार ‘मनमोहन को चूड़ियां भेजने वाली स्मृति मोदी जी को क्या भेजोगी’

गैंगरेप कांड को लेकर पूरे देश में गुस्सा का माहौल देखने को मिल रहा है। जी  हां, एक के बाद एक लोगों का गुस्सा फूटता दिख रहा है। लोग सरकार को आड़े हाथों ले रहे हैं, ऐसे में हार्दिक पटेल ने स्मृति ईरानी को लेकर पीएम मोदी पर जबरदस्त वार किया है। जी हां, पीएम मोदी पर हार्दिक ने अब तक सबसे बड़ा वार किया है। देश भर में कठुआ और उन्नाव रेप को लेकर गुस्से का माहौल है, ऐसे में अब हार्दिक ने मनमोहन सरकार और मोदी सरकार के बीच एक बड़ा फर्क बताया है, साथ ही लोगों को जागने के लिए अपील भी की है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ रेप बाद हत्या की खबर ने सबको झकझोंर के रख दिया है, लेकिन सरकार की तरफ से इस मुद्दे पर बात करने के  लिए कोई राजी नहीं हो रहा है। पार्टी हाईकमान  इस मुद्दे को लेकर शांत है, तो वहीं बीजेपी के छुटमुट नेता इसको लेकर अटपटे बयान देते हुए नजर आ रहे हैं, लेकिन इन सबके बीच विपक्ष सरकार को आड़े हाथों लेने से जरा भी पीछे नहीं हट रही है, यही वजह है कि हार्दिक पटेल ने मोदी सरकार पर हमला साधा है।

हार्दिक पटेल ने स्मृति पर वार करते हुए कहा कि आप मनमोहन को चुड़ियां भेजने वाली थी, लेकिन अब मोदी को क्या भेजोगी। जी हां, हार्दिक पटेल ने आगे कहा कि बीजेपी शासन में बेटियों के साथ बलात्कार हो रहे हैं, क्या वे अब देश की बेटी नहीं है, जो सरकार पूरी तरह से शांत है। हार्दिक ने आगे कहा कि ये वहीं बीजेपी वाले हैं, जो मनमोहन सरकार में होने वाले रेप को लेकर देशभऱ में हिंसा करते थे, लेकिन अब चुप्पी छाई हुई है, क्योंकि सरकार इनकी है।

लोगों से अपील करते हुए हार्दिक ने कहा कि अब भारत के जागने का समय आ चुका है, ऐसे में भारत को जाग जाना चाहिए, ताकि देश की बेटियों को इंसाफ मिल सके, क्योंकि ये सरकार अब कुछ नहीं कर सकती है, सिवाय जुमलेबाजी के। बता दें कि उन्नाव गैंगरेप मामले में सीबीआई ने आरोपी विधायक को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन बात सिर्फ गिरफ्तारी से नहीं बनती है, इंसाफ मिलना चाहिए, लेकिन अब इंसाफ मिलने में भी बहुत वक्त जा चुका है। बताते चलें कि गैंगरेप की घटनाओं को लेकर आज पूरा देश सड़क पर है, लेकिन सरकार अपने हाउस में हाथ पे हाथ धरे सो रही है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *