पत्नी ने की ऐसी डिमांड, पति महबूबा और उसके बेटे का सिर लेकर पहुंच गया ससुराल

रूठी हुई पत्नी को मानाने के लिए पति ने ऐसा कदम उठाया की आज पूरे संभल में सनसनी फैल गई है। लोग इस बात से हैरान हैं कि आखिर कातिल के मां का सिर काटने के बाद मासूम का गला कैसे काट गया। जो उसे पापा-पापा कहता था। जी हां डेंजर इश्क की खौफनाक अंत कुछ ऐसा ही है, जिसने एक मासूम का गला कटवा देती है, तो एक मासूम को अनाथ कर दिया। दास्तान संभल के चिमियावली गांव की है। जहां करीब एक महीना पहले एक महिला और बच्चे की सिर कटी लाश बरामद हुई थी। जिसका पुलिस ने आज खुलासा किया है, और कत्ल की जो कहानी बताई है, उसको सुनकर आपको को उपन्यास की कहानी याद आ जाएगी।

प्यार और कत्ल की सनसनी खेज कहानी की शुरुआत एक साल पहले हुई थी। जब शाहजहांपुर के जलालाबाद में रहने वाली ममता का साल भर पहले अपने पति से किसी बात को लेकर लड़ाई हो गई थी। जिसके बाद ममता पति को छोड़कर मायके चली गई। दोनों अलग अलग रहने लगे। इसी दौरान बदायूं जिला के गांव भमौरी में रहने वाली ममता की वाहिद नाम के युवक से हो गई। दोनों एक दूसरे के प्यार में पड़ गए। ममता  को दो बच्चे थे। कुछ ही दिन बाद दोनों साथ रहने लगे । ममता के दोनों बच्चे वाहिद को पापा कहते थे । कुछ दिन बाद ऐसे ही चला और फिर एक दिन ममता को धोखा देकर वाहिद ने शादी कर ली।

वाहिद ने प्रेमिका ममता को बिना बताए घरवालों की मर्जी से अरमाना नाम की लड़की से शादी कर ली। वाहिद ने ममता को गाजियाबाद में रखता था। कुछ दिन बाद वाहिद की करतूत का पता अरमाना को चल गया। जिसके बाद दोनों पति पत्नी में जमकर झगड़ा हुआ। अरमाना ने अपने पिता को बुला लिया और फिर उसके साथ मायके चली आई।

अरमाना जब पति के घर से जा रही थी तो उसने वाहिद से कहा – मुझे लेने तभी आना जब उस चुड़ैल का सिर काट लाना.. नहीं तो मुझे भूल जाओ। इसके  बाद पति वाहिद ने ममता की हत्या करने की साजिश रची। वाहिद अपने भाई गुड्डू के साथ 17 मार्च को गाजियाबाद पहुंचा और प्रेमिका ममता, बेटे करन और बेटी मंजू को साथ लेकर रात में चिमयावली गांव पहुंच गया। रास्ते में ममता ने पेट में दर्द बताया तो उसे पेट दर्द की गोली के साथ नशे की गोली भी खिला दी। फिर जंगल में लेजाकर मासूम मंजू के सामने इसकी मां ममता और बेटे करन का सिर काटकर हत्या कर दी। मंजू छोटी थी पुलिस को नहीं बता पाएगी इसलिए छोड़ दिया और अपने साथ ले आया।

जंगल में मिले दो शव जो पूरी तरह निवस्त्र थे ऐसे में पुलिस के लिए ये केस पूरी तरह ब्लाइंड मर्डर था। पुलिस ने को इसे खोलने में एक महीने का वक्त लगा। जिला पुलिस के साथ ही खुद एडीजी बरेली प्रेम प्रकाश भी इसकी मानीटिरिंग कर रहे थे। जिसका  एडीजी प्रेम प्रकाश ने स्वयं खुलासा किया।

वाहिद मायके में रह रही पत्नी को घर बुलाने के लिए इतना व्याकुल हो गया कि पत्नी के कहने पर प्रेमिका और उसके बेटे का सिर काट दिया। इतना ही नहीं पत्नी को दिखाने के लिए दोनों के सिर घर ले गया। कटे हुए सिरों को देख कर पत्नी को विश्वास हुआ की उसके पति की प्रेमिका का कत्ल हो चुका है। वहीं पुलिस ने वाहिद के पास से तीन साल की मासूम मंजू को भी बरामद कर लिया है। मासूम से जब पुलिस ने पूछताछ की तो उसने भी कहा कि मेरे सामने ही मम्मी और भाई का सिर काटा था।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *