परमीश वर्मा, परमीश वर्मा ने लिखा माँ के लिए इमोशनल ख़त

नई दिल्ली: पंजाबी इंडस्ट्री के बेताज बादशाह यानी परमीश वर्मा को शुक्रवार देर रात एक इवेंट से वापस लौटने के दौरान किसी अनजान शख्स ने उन पर गोली चला दी थी. जिसके बाद हालत नाजुक होने के चलते उन्हें मोहाली के ही एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. इलाज के बाद अब परमीश मौत के मुंह से बचकर वापस लौट आए हैं. ठीक होने के बाद परमीश ने Facebook पर अपनी मां के लिए बहुत इमोशनल पोस्ट लिखी और अपने फैन्स को अपनी हालत के बारे में जानकारी दी.

आप तो हम बता दें कि परमीश वर्मा पंजाब के मशहूर सिंगर और एक्टर हैं. परमीश ने अपनी पोस्ट में लिखा कि, ” बाबा नानक जी की कृपा से मैं बिल्कुल ठीक हूं, सब फैंस की दुआएं मेरे साथ हैं. मेरी किसी भी व्यक्ति से कोई भी दुश्मनी नहीं है. जब मुझे गोली लगी तब मैंने अपनी मां को रोते हुए देखा है. जैसे कल मेरी मां रोई है मैं नहीं चाहता कि पंजाब के किसी भी लड़के की मां कभी ऐसे रोए. सबका भला हो”.

आपको हम बता दें कि शुक्रवार देर रात करीब 1:30 बजे मोहाली में कुछ लोगों ने अचानक से परमीश पर हमला कर दिया और उन्हें गोली मार दी. वहीं दूसरी ओर इस पूरी घटना की जिम्मेदारी लेने वाले पंजाबी गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह धाहा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ शुरू कर दी है. सूत्रों की माने तो परमीश की टांग पर गोली मारी गई थी जिसके कारण उनकी जान बच नहीं. परमीश का हाल ही में रिलीज हुआ “गाल नहीं कडनी” सॉन्ग काफी पॉपुलर हुआ था.

गीत का नाम बेशक गाली से जुड़ा हुआ है लेकिन इसमें किसी प्रकार की कोई गाली नहीं है. इस गाने को YouTube पर ट्रेनिंग लिस्ट में नंबर वन पर रखा गया था. अभी तक परमीश वर्मा के इस गीत को 11 करोड़ से अधिक लोग देख चुके हैं. पंजाब के यूथ में परमीश को काफी पसंद किया जाता है. उनके दाढ़ी और मूछ वाले स्टाइल को हजारों युवा कॉपी कर चुके हैं.

गौरतलब है कि 31 वर्षीय परमीश वर्मा को जब गोली दागी गई तो मैं अपने एक दोस्त के साथ चंडीगढ़ के इलांटे मॉल से अपने घर वापस लौट रहे थे. तभी मोहाली के सेक्टर 74 के पास एक सफेद रंग की हुंडई क्रेटा कार उनके सामने खड़ी हो गई और उस कार में सवार युवक उन पर गोलियां चलाने लगे. इस गहमा गहमी में  परमीश के एक दोस्त भी घायल हो गए परंतु किसी तरह से वह दोनों घटनास्थल से भाग निकले. वहां से निकलने के बाद परमेश ने मोहाली के एक पुलिस अधीक्षक को मदद के लिए फोन किया. पुलिस मौके पर पहुंच गई और उन्हें मोहाली के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया. फिलहाल दोनों दोस्त खतरे से बाहर है. खबरों की मानें तो अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद परमीश को पुलिस सुरक्षा दी जा सकती है.

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि शनिवार को गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह धाहां ने Facebook पर एक पोस्ट के जरिए इस पूरी घटना की जिम्मेदारी ली है. दिलप्रीत सिंह धाहां का नाम संपत नेहरा गैंग के साथ जुड़ा हुआ है. इस पूरे संपत नेहरा गैंग का कहना है कि उन्होंने ही परमीश वर्मा पर हमला किया है. दिलप्रीत ने अपनी पोस्ट में लिखा था कि,” मैं दिलप्रीत सिंह धाहां आप सब को बताना चाहूंगा कि परमीश पर गोली मैंने ही चलाई है. इस बार तो परमीशबच गया लेकिन अगली बार नहीं बचेगा”. इसके इलावा दिलप्रीत ने लिखा कि परमीश पिछले काफी समय से उनसे बचता चला आ रहा था लेकिन अबकी बार वह उनके हाथ लग ही गया. फिलहाल दिलप्रीत को पुलिस रिमांड में लिया गया है और उन पर परमीश के केस को लेकर पूछताछ की जा रही है.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *