0

फिल्मों में बिग बी के बचपन का रोल करता था जो लड़का, फिल्म लाइन छोड़ बन गया रियल लाइफ हीरो

बॉलीवुड के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन की इंडस्ट्री में जो छवि और रूतबा है उसका श्रेय उनके बेहतरीन अभिनय क्षमता, दमदार आवाज और शानदार व्यक्तित्व के अलावा उनकी फिल्मों की कहानियों को भी जाता है, जिन्होने उन्हे आम आदमी का हीरो बनाया। अमिताभ बच्चन ने अपने अधिकांश फिल्मों में आम इंसान के संघर्ष, उसकी मजबूरी और जीवटता को जिया है.. ऐसी फिल्मों की कहानियों की शुरूआत उनके किरदार के बचपन के संघर्षों से होता था। ऐसे में उनके बचपन के किरदार भी काफी जुझारू और प्रभावशाली होते थें और यही वजह है ऐसी अधिकतर फिल्मों में बिग बी के बचपन का किरदार निभाने वाले चाइल्ड आर्टिस्ट मास्टर रवि भी उन दिनों में सभी की आंखों का तारा बन गए थे। जी हां, वही मास्टर रवि जिन्हें आपने ‘कुली’ और ‘अमर अकबर एंथनी’ जैसी फिल्मों में अमिताभ बच्चन के बचपन के किरदार में देखा  था। वैसे तो आज भी लोगों के ज़हन में उनकी छवि जूनियर अमिताभ बच्चन के रूप में बनी हुई, पर वहीं रिएल लाइफ में वे जूनियर अमिताभ बच्चन का साए और फिल्म लाइन को छोड़ काफी आगे निकल चुके हैं।

जी हां जिस बच्चे को आपने 80, 90 के दशक में फिल्मों में अमिताभ बच्चन के बचपन के किरदार के रूप में देखा है, वो आज बिग बी के बराबर तो नहीं, पर खुद का अच्छा खासा रुतबा रखते हैं। वैसे अब फिल्मीं दुनिया से इनका कोई नाता नहीं है, लेकिन इससे अलग इन्होने अपने मेहनत के दम पर अपना रूतबा बनाया है और आज ये करोड़ो के मालिक हैं।

सबसे सफल चाइल्ड आर्टिस्ट

दरअसल 1976 में फिल्म ‘फकीरा’ से डेब्यू करने वाले रवि को 1977 में आई फिल्म ‘अमर अकबर एंथनी’ से असली पहचान मिली। रवि ने ‘अमर अकबर एंथनी’,‘देश प्रेमी’, ‘शक्ति’, ‘कुली’ समेत तकरीबन दर्जनो फिल्मों में अमिताभ बच्चने के बचपन का रोल प्ले किया है। वहीं इसके अलावा रवि ने अब तक अलग-अलग भाषाओं की लगभग 300 से ज्यादा फिल्में की है। इस तरह से बॉलीवुड में शायद ही कोई ऐसा दूसरा चाइल्ड आर्टिस्ट हो, जिसे मास्टर रवि जितना फिल्मों में काम और नाम मिला हो। रवि एक समय में सबसे अधिक कमाई करने वाले चाइल्ड आर्टिस्ट थे और लोग उन्हें चाइल्ड आर्टिस्ट नहीं बल्कि चाइल्ड स्टार कहकर बुलाते थे। पर इतना नाम कमाने के बावजूद रवि ने बॉलीवुड में अपना करियर नहीं बनाया।

आज हैं 300 करोड़ के मालिक

बड़े होकर रवि ने अपना नाम और काम दोनो ही बदल दिया, दरअसल बाद में रवि ने अपना नाम मास्टर रवि से बदलकर रवि वलेचा रख लिया और फिल्म लाइन छोड़कर रवि ने नेशनल इंस्टी्टयूट अहमदाबाद से एमबीए की पढ़ाई की और फिर यहां से डिग्री लेने के बाद उन्होने हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में अपना कारोबार शुरू किया। आज उनकी कंपनी का कारोबार करोड़ो का है और वे टॉप प्राइवेट सेक्टर बैंकों को अपनी हॉस्पिटैलिटी की सेवाएं दे रहे हैं, आज वे भारत के पॉपुलर कारोबारी के रूप में जान जाते हैं। अपने कारोबार के साथ ही वे युवाओं को हॉस्पिटैलिटी पर्सनालिटी डेवलपमेंट और बाकी स्किल्स की ट्रेनिंग भी देते हैं। इस तरह से आज रवि फिल्मी दुनिया से अलग एक कामयाब जीवन जी रहे हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *