0

शरद का नीतीश पर वार ‘चारो तरफ घूम आएं, पर बिहार में एक सूई का कारखाना भी नहीं खोल पाएं’

जदयू के  बागी नेता शरद यादव ने एक बार फिर से नीतीश कुमार पर बड़ा हमला बोला है। शरद यादव ने नीतीश पर काम न करने का आरोप लगाते हुए व्यंग्य कसा है। बिहार में पिछले साल राजनीतिक भूचाल देखने को मिला था, जिसके बाद से ही शरद यादव नीतीश कुमार से अलग थलग दिखाई दे रहे हैं। जदयू पार्टी से अलग थलग होने के बाद शरद यादव नीतीश को आड़े हाथों लेना नहीं भूलते हैं, ऐसे में एक बार फिर से उन्होंने नीतीश पर वार करते हुए बड़ा बयान दिया है। चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

शरद यादव ने नीतीश पर वार करते हुए कहा कि नीतीश कुमार चारों तरफ घूम आएं लेकिन बिहार में सूई का कारखाना भी नहीं खोल पाएं, वो सिर्फ घूम रहे हैं। पार्टी  के साथ नौटंकी भी करते हुए नजर आ रहे हैं, लेकिन उनकी नौटंकी का जवाब अब जनता देगी, जब उन्हें बिहार की गद्दी से उतार फेकेगी। शरद ने कहा कि नीतीश कुमार को सिर्फ नौटंकी और घूमना आता है, इसके अलावा कामकाज में वो बिल्कुल जीरो है। नीतीश पर आरोप लगाते  हुए शरद ने कहा कि नीतीश के तमाम योजनाएं सिर्फ कागजों पर हैं, जमीनी हकीकत तो कुछ और ही है।

 

शरद यादव ने कहा कि ऐसा कोई उदाहरण नहीं है कि शराबबंदी कानून के तहत बड़े लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है, वो सिर्फ वोट लेने के फेर में लगे हुए हैं लेकिन देश में उनकी साख जीरो है, ऐसे में अब नीतीश कुमार की बिदाई का वक्त आ गया है। साथ ही शरद ने कहा कि कोर्ट इस मामले में फैसला लेगा कि सभापति का फैसला सही है या नहीं, क्योंकि मुझे कानूनी वकालत की कोई जानकारी नहीं है। शरद ने ये जवाब तब दिया, जब उनसे पूछा कि राज्यसभा की सीट को लेकर आपका क्या कहना है?

बताते चलें कि इन दिनों शरद यादव तीसरे मोर्चे की तैयारी में है, ऐसे में शरद यादव के लिए राज्यसभा से ज्यादा लोकसभा मायने रखता है। शरद यादव तमाम विपक्षी नेताओं से मिलते हुए नजर आते हैं, जिसकी वजह से आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर महागठबंधन देखा जा सकता है,  लेकिन गठबंधन में तीसरे मोर्चे की कवायद जरूर दिखाई दे रही है, पर क्या ये तीसरा मोर्चा बनकर सफल होगा या फिर शरद यादव कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के लिए राजी होंगे, ये तो खैर वक्त ही बताएगा, फिलहाल सियासी गलियारों की अटकलें तेज हो चुकीं हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *