0

2014 में हारी सीटों पर अगले चुनाव में जीत हासिल करना चाहती है बीजेपी

केंद्र की सत्ता दशकों के बाद परिवर्तित 2014 में हुआ था। ये चुनाव ऐतिहासिक माना गया, क्योंकि एक तरफ बीजेपी अपने इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी जीत हासिल कर पाई तो वहीं दूसरी तरफ दशकों बाद केंद्र की सत्ता में बदलाव देखने को मिला। बीजेपी उस दौरान लोकसभा की सभी सीटें जीतना चाहती थी, लेकिन मोदी लहर होने के बावजूद बीजेपी को उन सीटों पर हाल मिली थी, लेकिन जीत के तुरंत बाद से ही बीजेपी ने उन्हीं सीटों पर जीतने के लिए काम शुरू कर दिया। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

भारतीय जनता पार्टी 2014 में 90 सीटों पर हारी थी, जिस पर अब जीत की चाहत रखती हुई नजर आ रही है। बीजेपी को यह मलाल रह गया कि वो 90 सीटों पर जीत हासिल नहीं कर पाई। हालांकि, अब बीजेपी देश की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर चुकी है, तो उसके लिए ये चाहत पूरी करना मुश्किल नहीं है, क्योंकि एक बार फिर से देश में मोदी लहर दिखाई दे रही है। बता दें कि जिस तरह से एक के बाद राज्य बीजेपी जीत रही है, उससे तो यही साबित होता है कि बीजेपी 2019 में उन 90 सीटों पर भी जीत हासिल करेगी, जिस पर वो हार गई थी।

2019 के लिए लगातार अमित शाह यह दावा करते हुए नजर आते  हैं कि मोदी जी के नेतृत्व में बीजेपी 350 से ज्यादा सीटें जीतेगी। जी हां, अमित शाह यह कहते हैं कि 2014 तो पहला पार्ट था, जिसमें  विपक्ष की कमर तोड़ दी, लेकिन अब दूसरे पार्ट में विपक्ष को जड़ से  उखाड़ फेंकने की बात हो रही है। बीजेपी का यह भी दावा है कि 2014 से बेहतर परिणाम देखने को मिलेंगे, एक बार फिर बीजेपी मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनाएगी। इन सबके बीच बीजेपी के एक दिग्गज नेता ने इस बात का खुलासा किया है कि बीजेपी की चाहत उन 90 सीटों पर जीत हासिल करना है, जहां से वो हार गई है।

बताते चलें कि बीजेपी बंगाल में अपना मोर्चा बढ़ाना चाहती है, जिसके के लिए तैयारियां शुरू हो चुकी है। पिछले चुनावों में बीजेपी वहां सिर्फ दो सीट ही जीत पाई थी, जिसकी वजह से अब वो वहां की सारी की सारी सीटें जीतना चाहती है, जिसके लिए अमित शाह ने तैयारियां शुरू कर दी है। बीजेपी कार्यकर्ता बंगाल में बीजेपी की सियासी जमीन मजबूत कर रहे हैं, ऐसे में बीजेपी को यह उम्मीद है कि वो 2019 में उन सारी सीटों पर भी जीत हासिल करना चाहती है, जहां उसे 2014 में करारी हार मिली थी।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *